बिहार : अब तक 16 जिले और 81 लाख 56 हज़ार से ज्यादा लोग बाढ़ से त्रस्त

0
bihar-me-lakho-log-badh-se-prabhawit

अब तक 16 जिले और 81 लाख 56 हज़ार से ज्यादा लोग बाढ़ से त्रस्त

बिहार में बाढ़ ने और 12 हजार लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। अब-तक बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों की संख्या 81 लाख 56 हजार से अधिक हो गई है। राज्य के 16 जिलों के 130 प्रखंडों की 1311 पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हुई हैं। आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्रडू ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों में बाढ़ का पानी काफी कम हुआ है, इस कारण अब सामुदायिक किचेन की संख्या घटकर 653 हो गई है, जहां पर प्रतिदिन पांच लाख 30 हजार लोगों को भोजन दिया जा रहा है। वहीं अभी दस राहत शिविर चलाए जा रहे हैं, जहां पर 12 हजार लोग रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित आठ लाख 45 हजार परिवारों के खाते में छह-छह हजार की सहायता राशि भेज दी गई है। प्रभावित लोगों के बीच अब-तक तीन लाख 16 हजार पॉलीथिन शीट्स का वितरण किया गया है। लोगों की सहायता के लिए बड़ी संख्या में नावों का भी परिचालन किया जा रहा है।

उत्तर बिहार की अधिकतर नदियों का जलस्तर काम हुआ है। लेकिन पटना में गंगा और पुनपुन नदियों का जलस्तर फिरसे ऊपर चढ़ गया है। सोमवार को पटना में गंगा भी लाल निशान को पार कर गई। पुनपुन नदी तो रविवार से ही लाल निशान से ऊपर बह रही है। उधर, उत्तर बिहार की बागमती, बूढ़ी गंडक और खिरोई को छोड़ सभी नदियां लाल निशान से नीचे आ गई हैं। इन नदियों के जलस्तर में भी काफी कमी आई है।

गंगा नदी पटना में गांधीघाट पर लाल निशान से दो सेमी ऊपर चली गई है। हाथीदह में भी यह नदी छह सेमी ऊपर है। दीघा में अभी लाल निशान से नीचे है। लेकिन कोसी और गंडक नदी का डिस्चार्ज भी घटा है। कोसी का डिस्चार्ज सोमवार को बराह क्षेत्र में 1.32 लाख और बराज पर 1.63 लाख घनसेक दर्ज किया गया। गंडक का डिस्चार्ज भी बराज पर 1.86 लाख घनसेक है। कोसी बालतारा में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। गंडक नदी भी डुमरियाघाट पर लाल निशान से ऊपर है।

दूसरी नदियों में अधवारा और कमला बलान लाल निशान से नीचे आ गई है। बागमती नदी का जलस्तर कम हुआ है। यह सीतामढ़ी के कटौंझा में लाल निशान से 1.05 सेमी और हायाघाट में 1.68 मीटर ऊपर है। बूढ़ी गंडक नदी भी काफी नीचे उतरी है। समस्तीपुर में यह नदी लाल निशान से मात्र 37 सेन्टीमीटर और रोसड़ा में 1.65 मीटर ऊपर है। कुछ दिन पहले यह नदी रोसड़ा में लाल निशान से पौने चार मीटर ऊपर बह रही थी। खिरोई नदी दरभंगा में लंबे समय से लाल निशान से 2 मीटर से ज्यादा ऊपर थी, रविवार को यह नदी लाल निशान से 1.38 मीटर ऊपर है। घघरा सीवान में 54 सेमी ऊपर बह रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here